रविवार, 23 अगस्त 2009

क्या बीबी ऐसे खुश होतीं हैं ?

मेरी अभी शादी नहीं हुई है लेकिन होने वाली है। कुछ लोग शादी के नाम से डराते हैं तो कुछ इसे जिंदगी का सबसे बेहतरीन पल बताते हैं। मुझे नहीं पता सच क्या है। मेरे एक दोस्त जिनकी शादी के 13 साल हो गए उन्होंने अपने अनुभव बताए।
दोस्त के 13 साल के अनुभवों का सार -
पतियों के लिए पत्नियों को खुश रखने के कुछ मंत्र .... इस मंत्र को फॉलो कर कोई भी अपनी पत्नी के आंखों का तारा बन सकता है ---
मंत्र
बिना बात के पत्नी की तारीफ करते रहो
बिना गलती के सॉरी बोलते रहो

तीसरा मंत्र (ये सबपर लागू नहीं होता)

जितने रुपए मांगे निर्वाध रूप से देते रहो

मुझे नहीं पता उपरोक्त कथन में कितनी सच्चाई है। मैं आप सभी शादीशुदा विद्वजनों से सप्रेम निवेदन करता हूं कि अपने विचार जरूर प्रेषित करें।

9 टिप्‍पणियां:

श्यामल सुमन ने कहा…

आपका चिन्तित होना लाजिमी है कौशल जी। एक उपाय यहाँ भी है। जरा क्लिक तो करें-

http://www.sahityakunj.net/LEKHAK/S/ShyamalKishorJha/har_samsya_kaa_nidan_patni_puran_Vayangy.htm

बी एस पाबला ने कहा…

हमारे एक मित्र के दो मंत्र हैं
1- मालूम नहीं
2- भूल गया

Ram ने कहा…

Just install Add-Hindi widget button on your blog. Then u can easily submit your pages to all top Hindi Social bookmarking and networking sites.

Hindi bookmarking and social networking sites gives more visitors and great traffic to your blog.

Click here for Install Add-Hindi widget

Shambhu kumar ने कहा…

बड़ी उलझन में फंसा दिय है गुरू भाईजी आपने। कई लोगों से सुना है। शादी करके आदमी तीन महीनें तक खुश रहता है। जिसने शादी नहीं की वो ताउम्र सेज सजाता रहता है। शायद इसलिए त्रिमूर्ति (भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश) को छोड़ दे तो दुनिया के सभी बाकि देशों में लोग ज्यादा से ज्यादा तीन साल ही एक संसर्गसाथी के साथ गुजार पाते हैं। लेकिन अपना देश भी शायद इसलिए अजूबा है। खैर आप को हतोत्साहित करने का कोई इरादा नहीं है। आगे आप खुद ज्ञान गिरमिटिया मजदूर हैं। अपना अच्छा भला भी खूब जानते हैं... और मेरी तरफ से होने वाली शादी के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं। बस इसी ब्लॉग के जरिए शादी में मुफ्त के खानी पीने के लिए जरूर दावत दीजिएगा। हां इतना जरूर कहना चाहूंगा की व्यक्तिगत तौर पर मैं दूध पीने में विश्वास रखता हूं गाय पालने में नहीं।

Shambhu kumar ने कहा…

बड़ी उलझन में फंसा दिय है गुरू भाईजी आपने। कई लोगों से सुना है। शादी करके आदमी तीन महीनें तक खुश रहता है। जिसने शादी नहीं की वो ताउम्र सेज सजाता रहता है। शायद इसलिए त्रिमूर्ति (भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश) को छोड़ दे तो दुनिया के सभी बाकि देशों में लोग ज्यादा से ज्यादा तीन साल ही एक संसर्गसाथी के साथ गुजार पाते हैं। लेकिन अपना देश भी शायद इसलिए अजूबा है। खैर आप को हतोत्साहित करने का कोई इरादा नहीं है। आगे आप खुद ज्ञान गिरमिटिया मजदूर हैं। अपना अच्छा भला भी खूब जानते हैं... और मेरी तरफ से होने वाली शादी के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं। बस इसी ब्लॉग के जरिए शादी में मुफ्त के खानी पीने के लिए जरूर दावत दीजिएगा। हां इतना जरूर कहना चाहूंगा की व्यक्तिगत तौर पर मैं दूध पीने में विश्वास रखता हूं गाय पालने में नहीं।

kanchan patwal ने कहा…

chauhan ji, mera manana ye hai ki vivah ek esa ehsaas hai jo bina anubhav liye vyakt hi nahi kiya ja sakta... aur patni koi gai nahi hai jiske bandhe badhaye charactersticks ho... Patni par jocks band karen...plz

bagiya.blogspot.com ने कहा…

कौशल भाई मेरा मानना हैं कि आप जैसे हो वैसे अच्छे... कोई नियम नहीं ...

राकेश त्रिपाठी ने कहा…

If Columbus had been married, he might have never discovered America.

Because:

1) Where r u going?

2) With Whom?

3) To discover what?

4) Why only u?

5) What do I do, when u r not here?

6) Can I come?

7) Coming back when?

8) Dinner ghar par hee khaoge ?

9) Most importantly: Mere liye kya laoge ?

Ashish (Ashu) ने कहा…

भाई बोले तो अपुन भी अभी कुवांरा हॆ पर इतना ही कहेगा कि जो भी करो दिल से करो प्यार करो तो दिल से , उसके प्रति वफादार रहो बस इतना ही काफी हॆ यार, टेंशन नही लेने का अपुन हॆ ना...