बुधवार, 14 मई 2008

तीन साल के धमाके

  • 29 अक्तूबर 2005 - दिल्ली में तीन जग़हों पर हुए बम धमाकों में 62 लोग मारे गए।
  • 7 मार्च 2006 - उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रेलवे स्टेशन और संकटमोचन मंदिर में बम धमाकों में 20 लोग मारे गए।
  • 11 जुलाई 2006 - मुंबई की लाइफ लाइन मानी जाने वाली लोकल ट्रेनों में हुए बम धमकों में 170 लोग मारे गए।
  • 8 सितंबर 2006 - महाराष्ट्र के नासिक ज़िले के मालेगाँव में एक मस्जिद के पास हुए तीन बम फटे। 37 लोगों की मौत।
  • 18 फ़रवरी 2007 - दिल्ली से अटारी जा रही समझौता एक्सप्रेस में हुए दो धमाकों में 66 लोग जलकर मारे गए जिसमें से अधिकतर पाकिस्तानी थे.
  • 18 मई 2007 - हैदराबाद की मक्का मस्जिद में नमाज़ के दौरान हुए धमाके में 11 लोग मारे गए।
  • 25 अगस्त 2007 - हैदराबाद में हुए बम विस्फोट में 42 लोग मारे गए।
  • 11 अक्तूबर 2007 - राजस्थान में अजमेर के ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में हुए धमाके में दो लोग मारे गए।
  • 23 नवंबर 2007 - उत्तर प्रदेश में लखनऊ, फ़ैज़ाबाद और वाराणसी की कचहरियों में हुए बम धमाकों में 13 लोग मारे गए और 75 घायल हुए।
  • 1 जनवरी 2008 - उत्तर प्रदेश के रामपुर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के शिविर पर हुए चरमपंथी हमले में सात सुरक्षाकर्मियों समेत आठ लोग मारे गए।
  • 13 मई 2008 – राजस्थान के जयपुर में छह जगहों पर आठ बम धमाके हुए। जिसमें 70 लोगों की मौत हो गई। जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

कोई टिप्पणी नहीं: